Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2017

बीएड प्रवेश परीक्षा: वाराणसी के 52 केंद्रों पर 26 हजार परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

राज्य स्तरीय संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड 2017 इस बार तीन मई को होगी। लखनऊ विश्वविद्यालय की ओर से कराई जा रही इस परीक्षा के लिए वाराणसी में कुल 52 केंद्र बनाए गए हैं, जहां 26 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे। केंद्राध्यक्षों की तैनाती के बाद स्थानीय स्तर पर एक मई को जिला, पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में काशी विद्यापीठ में तैयारियों की समीक्षा की जाएगी। शासन ने इस बार लखनऊ विश्वविद्यालय को प्रवेश परीक्षा की जिम्मेदारी दी है। विश्वविद्यालय की ओर से बनारस समेत 19 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाया गया है। नोडल सेंटर महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ की ओर से परीक्षा की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। यहां विश्वविद्यालय परिसर समेत कुल 52 केंद्रों पर होने वाली परीक्षा के लिए केंद्रों, केंद्राध्यक्षों की सूची फाइनल होने के बाद अब कक्ष निरीक्षकों की सूची भी लगभग फाइनल हो चुकी है। नोडल अधिकारी और कुलसचिव ओमप्रकाश ने बताया कि 28 अप्रैल को लखनऊ विश्वविद्यालय में तैयारी बैठक में जो भी दिशा-निर्देश मिलेंगे, उसके अनुसार विश्वविद्यालय में केंद्राध्यक्षों के साथ परीक्षा से जुड़े लोगों की बैठक शाम चार बजे होगी। 03 क…

NCTE ने लगाई रोक, अब IGNOU नहीं कराएगा बीएड

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) से बीएड करने वालों के लिए बुरी खबर है। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने विवि में बीएड पर रोक लगा दी है। प्रदेश में हर साल 1300 बीएड सीटों पर दाखिला होता था। लेकिन अब केवल एलटी शिक्षकों को ही मौका मिलेगा। इग्नू की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. आशा शर्मा ने बताया कि बीएड में हर साल 1300 सीटों पर प्रवेश परीक्षा से दाखिले किए जाते थे। लेकिन इस साल एनसीटीई की ओर से पत्र आया है, जिसमें साफ कर दिया गया है कि बीएड में एडमिशन नहीं किए जाएंगे। केवल एलटी शिक्षकों को ही बीएड में एडमिशन दिया जाएगा। देहरादून क्षेत्रीय केंद्र में एलटी शिक्षकों के लिए 25 सीटें रखी गई हैं, जिन पर जल्द ही एडमिशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। वहीं, इग्नू में बीएड बंद होने से प्रदेश के युवाओं को झटका लगा है।